Friday, 26 May 2017

सहारनपुर में लगातार जारी जातिय हिंसा में हो रही जान-माल की हानि के लिये उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार पूरी तरह से दोषी।


बीजेपी व आर.एस.एस. के जातिवादी तत्व सामाजिक भाईचारे को बिगाड़ने हेतु सरकारी मशीनरी का भी खुलकर दुरूपयोग कर रहे हैं।
उत्तर प्रदेश में भी भगवा ब्रिगेड को हर प्रकार की साम्प्रदायिक व जातिवादी जुल्म-ज्यादिति व हिंसा एवं हत्या आदि करने की खुली छूट।
सहारनपुर में जारी जातिय हिंसा के सम्बन्ध में बी.एस.पी. के चार वरिष्ठ पदाधिकारियों का प्रतिनिधिमण्डल अधिकृत, जो आज शाम 6.30 बजे लखनऊ में मुख्यमंत्री जी से मिलेगा।
बी.एस.पी. परमपूज्य बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर की मानवतावादी सोच व विचारधारा पर चलने वाली पार्टी है तथा सामाजिक भाईचारा इसके मिशन का मजबूत हिस्सा है जिस उद्देश्य के तहत ही कल सहारनपुर के शबीरपुर गाँव का दौरा
पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में लगातार जारी जातिय हिंसा में हो रही जान-माल की हानि के लिये उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार व दोषी है,,
बीजेपी व आर.एस.एस. जैसी संगठन के जातिवादी तत्व सामाजिक भाईचारे को बिगाड़ने के लिये सरकारी मशीनरी का भी खुलकर दुरूपयोग कर रहे हैं।
बीजेपी व आर.एस.एस. के जातिवादी शरारती व अपराधिक तत्वों ने पहले साम्प्रदायिकता का जहर घोलकर अपने स्वार्थ की राजनीतिक व चुनावी की पूर्ति की और अब सत्ता में आने के बाद जातिवादी हिंसा पर उतारू हो गये हैं। इसी का परिणाम हैं कि सहारनपुर में जातिय हिंसा व संघर्ष थम नही पा रहा है और शासन-प्रशासन की मिलीभगत से निर्दोष लोगों को हिंसा का शिकार बनाया जा रहा है और उनकी हत्यायें भी की जा रही हैं।
कल शबीरपुर गाँव के दौरे में सर्वसमाज के लोगों से शांति व आपसी भाईचारे की अपील की थी, परन्तु उनके लौटने के बाद जिला प्रशासन की लापरवाही बल्कि मिलीभगत से बीजेपी-समर्थक लोगों ने दलितों आदि को रास्ते में रोक-रोक कर उनपर जानलेवा हमला किया जिसमे एक की जान चली गयी व कई अन्य की हालत गम्भीर है।
हम इस दुःखद दुर्भाग्यपूर्ण घटना की तीव्र निंदा करते हैं,
बी.एस.पी. के चार वरिष्ठ पदाधिकारियों- राष्ट्रीय महासचिव श्री सतीश चन्द मिश्रा, बी.एस.पी. उत्तर प्रदेश स्टेट अध्यक्ष श्री राम अचल राजभर, विधानसभा में बीएसपी दल के नेता श्री लालजी वर्मा एवं पार्टी के पूर्व वरिष्ठ मंत्री श्री इंद्रजीत सरोज को अधिकृत किया है कि वे लोग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से समय लेकर एक प्रतिनिधिमण्डल के रूप में मिले और सहारनपुर में पूर्व की हुई और कल की हुई घटनाओं के सम्बन्ध में दोषियों के खिलाफ सख्त क़ानूनी कार्यवाई व पीड़ितों को उचित मुआवजा तथा घायलों की निशुल्क बेहतर इलाज कराने की मांग करें और इस सम्बन्ध में यह प्रतिनिधिमण्डल आज शाम 6.30 बजे लखनऊ में मुख्यमंत्री जी से मिलेगा।
उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद अन्य भाजपा-शासित राज्यों की तरह ही, यहाँ भी अपराध नियंत्रण व कानून व्यवस्था जबरदस्त बदहाल हुई है तथा भगवा ब्रिगेड को हर प्रकार की साम्प्रदायिक व जातिवादी जुल्म-ज्यादिति व हिंसा एवं हत्या आदि करने की खुली छूट मिल गयी है, इसलिये लोगों को स्वयं ही काफी सावधान रहने की जरूरत है।
बी.एस.पी. परमपूज्य बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर की मानवतावादी सोच व विचारधारा पर चलने वाली पार्टी है तथा सामाजिक भाईचारा इसके मिशन का मजबूत हिस्सा है और इसी उद्देश्य को लेकर कल सहारनपुर के शबीरपुर गाँव का दौरा आयोजित किया गया था, जो बीजेपी की सरकार को अच्छा नही लगा और इनके इशारे पर फिर जिला प्रशासन ने ना तो उन्हें हेलीकॉप्टर से जाने की इजाजत दी और ना ही गांवों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये थे तथा इनके लौटने के बाद में फिर निर्दोष दलितों पर जानलेवा हमले कई स्थानों पर हुये व एक की मौत भी हुई।
बी.एस.पी. मूवमेंट के कारण देश व खासकर मास्टर चाबी प्राप्त करने के लिये काफी जोरदार तरीके से संघर्षरत है, परन्तु खासकर बीजेपी व आर.एस.एस. के जातिवादी तथा इन्हें हर प्रकार से क्रश (रौंद) करके रखना चाहते हैं।
जिन लोगों ने सामाजिक परिवर्तन के अग्रदूत ज्योतिराव फुले, छत्रपति शाहूजी महाराज, बाबा साहब डा. भीमराव अम्बेडकर व मान्यवर श्री कांशीराम जी का जीवनभर सख्त विरोध किया, उन्हें अपमानित व उनका तिरस्कार किया परन्तु आज वही लोग दलितों व पिछडो के बहुमूल्य वोट की खातिर अपना चोला बदलकर उनका हितैषी बनने का दावा कर रहे हैं, किन्तु दलित व पिछड़े लोग अब इतने जागरूक हो गये हैं कि वे उनके बहकावे में आने वाले नही हैं.

No comments:

Post a Comment