Saturday, 27 May 2017

गौरक्षकों का एक और तांडव: तस्करी के आरोप में जबरन रुकवाई ट्रेन, रेल कर्मचारियों को पीटा

ओडिशा। देश में जबसे बीजेपी की सरकार बनी है तथाकथित गौरक्षकों का तांडव बढ़ता जा रहा है। हाल ही में राजस्थान के अलवर में एक मुस्लिम शख्स से कथित गौरक्षकों ने मारपीट की थी। पहलू खान नाम के शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसकी मौत हो गई थी। वही उसके अन्य साथी घायल हो गए थे। अब ऐसी ही एक खबर ओडिशा से आई हैं। जहां गौरक्षकों ने फिर से अपना तांडव दिखाया है।

खबर के अनुसार, ओडिशा के भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर 20 से ज्यादा गौरक्षकों के एक ग्रुप ने कोचुवेली-गुवाहटी एक्सप्रेस के पार्सल वैन में कथित तौर पर गौ-तस्करी को लेकर छापा मारा। गौरक्षकों पर आरोप है कि उन्होंने छापा मारने के बाद ट्रेन के लोको पायलट और उसके सहयोगी समेत दो अन्य लोग, जो कि कानूनी तरीके से 20 गायों को लेकर जा रहे थे, उनपर हमला किया। 
जानकारी के मुताबिक गायों को नोएडा के एक एग्रो कंपनी से लेकर जाया जा रहा था। इसे तमिलनाडू से मेघालय के अमपाती ले जाना था। गायों को ले जाने के लिए राज्य सरकार की ओर से इन्हें आदेश भी मिले थे। सूत्रों के मुताबिक ट्रेन जैसे ही भुवनेश्वर रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो गौरक्षा दल के सदस्य होने का दावा करने वाले 25 लोग ट्रेन में चढ़ गए और गौ-तस्करी का आरोप लगाते हुए हमला किया। बिना कुछ पूछे ही उन लोगों ने मारना-पीटना शुरू कर दिया। 
गौरक्षकों पर वेटनरी डॉक्टर, स्टेशन मैनेजर, ट्रेन ड्राइवर और डेयरी फर्म के दो कर्मचारियों के साथ मारपीट करने का आरोप लगा है। जानकारी के मुताबिक गौरक्षकों ने ट्रेन से सभी गायों को नीचे उतरवाया। गायों के ट्रेन से उतारने को लेकर एक यात्री और दो रेलवे स्टाफ ने हस्तक्षेप किया।रेलवे के एसपी संजय कौशल ने कहा कि गौरक्षक दल के सदस्यों वेटनरी डॉक्टर, स्टेशन मैनेजर और डेयरी स्टाफ के साथ मारपीट की। पुलिस के घटनास्थल पर पहुंचने से पहले सभी आरोपी फरार हो गए। 

No comments:

Post a Comment