Monday, 5 June 2017

मान्यवर कांशीराम इको गार्डेन में लगी भीषण आग पर बहुजन समाज पार्टी की पहली प्रतिक्रिया

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के वीआईपी रोड स्थित मान्यवार कांशीराम स्मारक स्थल के नजदीक ग्रीन इको गार्डन को शनिवार की देर रात भीषण आग के हवाले किया गया। इसके बाद इलाके में अफरा तफरी मची रही।  इसको लेकर बहुजन समाज पार्टी की ओर से पहली प्रतिक्रिया आई है। बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने  इस शासन प्रशासन की घोर लापरवाही का परिणाम बताया। उन्होने कहा ऐसे भव्य सार्वजनिक व पर्यटक स्थलों की उपेक्षा व अनदेखी अच्छी बात नहीं है। बता दें कि इस गार्डन का निर्माण मायावती के कार्यकाल के दौरान ही कराया गया था।
आगजनी की इस बड़ी घटना को गम्भीरता से लेते हुये मायावती ने तत्काल पार्टी के चार वरिष्ठ पदाधिकारियों की एक कमेटी गठित करके इस मामले पर मुख्यमंत्री जी से समय लेकर मिलने का निर्देश दिया है ताकि इस प्रकार की आपराधिक लापरवाही पर आगे अंकुश लगाया जा सके। बसपा की इस कमेटी में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्री सतीश चन्द्र मिश्र, प्रदेश बी.एस.पी. के अध्यक्ष राम अचल राजभर, विधानसभा में बसपा दल के नेता लालजी वर्मा, व पूर्व मन्त्री इन्द्रजीत सरोज होगें, जो मुख्यमंत्री  से माँग करेंगे कि दलितों व पिछड़े वर्ग में जन्में महान सन्तों, गुरूओं व महापुरूषों के आदर-सम्मान में बनाये गये विभिन्न स्मारकों, स्थलों व पार्कों आदि की जनहित में समुचित देखभाल व रख-रखाव की जानी चाहिये, ना कि इनकी उपेक्षा की जानी चाहिये, जैसाकि इन स्थलों का हो रहा है।
मायावती ने कहा कि बसपा सरकार के दौरान निर्मित विभिन्न भव्य स्थल, स्मारक व पार्क आदि ऐतिहासिक व पर्यटन महत्व के सार्वजनिक उपयोग वाले स्थल हैं, जो अपनी भव्यता के कारण राजधानी लखनऊ की शोभा व पहचान भी हैं, जिनकी जनहित में हमेशा सही देखभाल व रख-रखाव होती रहनी चाहिये। परन्तु बसपा की सरकार के बाद के पिछले लगभग छह वर्षों से ये स्थल व पार्क आदि उपेक्षा व उचित रख-रखाव के अभाव का शिकार हैं, जिसके सम्बंध में राज्य सरकार का ध्यान बार-बार आकृष्ट किया जाता रहा है।
उन्होने कहा, अभी हाल ही में उन्होंने ( दिनांक 14 अप्रैल सन् 2017 को ) प्रदेश की बीजेपी सरकार का ध्यान सार्वजनिक तौर पर ’’मान्यवर कांशीराम स्मारक स्थल’’ की विशाल व भव्य गुम्बद के उचित रख-रखाव नहीं किये जाने के सम्बंध में आकर्षित किया था, जिस पर भी राज्य सरकार को तत्काल ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि ये स्थल, स्मारक व पार्क आदि प्रदेश की धरोहर हैं और इनकी सुरक्षा, उचित देखभाल व रख-रखाव राज्य सरकार की ख़ास ज़िम्मेदारी भी बनती है।

No comments:

Post a Comment