Thursday, 8 June 2017

MP के गृहमंत्री बयान से पलटे, कहा- पुलिस फायरिंग में हुई किसानों की मौत

मध्य प्रदेश के मंदसौर में प्रदर्शन के दौरान किसानों पर गोलीबारी मामले में सूबे के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने अपने बयान से पलटी मार दी है. अब उन्होंने कहा है कि किसानों की मौत पुलिस की फायरिंग से हुई है. मामले की जांच में यह बात सामने आई है. इससे पहले सिंह ने कहा था कि मंदसौर में पुलिस ने कोई गोली नहीं चलाई. गोली चलने की घटना की जांच के आदेश दिये गए हैं और कुछ इलाकों में कर्फ्य़ू भी लगाना पड़ा है.

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री ने कहा कि इस घटना के पीछे कांग्रेस का हाथ हैं. कांग्रेस के नेता पूरे आंदोलन को राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं. असामाजिक तत्व किसान आंदोलन में शामिल हुए, जिन्होंने इस घटना को अंजाम दिया. कांग्रेस उपाध्यक्ष मामले में राजनीति कर रहे हैं.

भूपेंद्र सिंह ने सवाल दागा कि जब किसान पिछले छह दिन से प्रदर्शन कर रहे थे, तब राहुल गांधी कहां थे? उन्होंने दावा किया कि अब हालात काबू में हैं. मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं, ताकि किसानों पर फायरिंग करने वाले पुलिसकर्मियों की पहचान की जा सके. आज तक से विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से प्रशासनिक नाकामी है. अगर प्रशासन समय पर सतर्क हो जाता, तो ऐसी घटना नहीं होती. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों की सारी मांगे तीन दिन पहले ही मान ली थी.

No comments:

Post a Comment